भूमि आंवला के फायदे | Bhumi or bhui Amla ke fayde | benefits of Bhumi Amla |

5:15 pm / staff / 0 comments
Category:
LIVER DISEASES

यहां हम आपको “भूमि आंवला के फायदे”के संदर्भ में जानकारी दे रहे हैं। उम्मीद है कि यह लेख आपके लिए ज्ञानवर्धक साबित होगा। तो आइए शुरूआत करते हैं–

भूमि आंवला के औषधीय फायदे (Bhumi amla benefits in hindi)

भूमि आंवला अथवा भुंई आमला लगभग 1.5 फीट से 2 फीट ऊंचा एक वर्षीय पौधा होता है जो बरसात के समय खेतों में खरपतवार के रूप में उगा दिखाई देता है। यद्यपि आंवला की तुलना में यह पौधा बहुत छोटा होता है परन्तु आवंला के पौधे जैसे पत्तों तथा पत्तों के पीछे छोटे-छोटे आंवला जैसे फल लगने के कारण इसको जमीन का आंवला अथवा ‘भुंई आमला’ कहा जाता है। अधिकांशतः बंजर जमीनों के साथ-साथ खेतों में वर्षा ऋतु में खरपतवार के रूप में यह उगता है। यह लिवर से लेकर विभिन्न प्रकार के रोगों से निजात पाने में औषधि के रूप में इस्तेमाल किया जाता है।

Bhumi or bhi Amla ke fayde

  • लिवर रोग में भूमि आंवला (How to Use Bhumi Amla for Fatty Liver)

लिवर के लिए भूमि आंवला एक महत्वपूर्ण दवा है। यह लिवर की सूजन या फैटी लिवर की समस्या से छुटकारा दिलाने में बहुत फायदेमंद होती है। भूमि आंवला बरसात मे अपने आप उग जाता है और छायादार नमी वाले स्थानो पर पूरे सालभर मिलता है। इसके पत्ते के नीचे छोटा सा फल लगता है जो देखने मे आंवले जैसा ही दिखाई देता है भूमि आंवला लीवर की सूजन, सिरोसिस, फैटी लीवर, बिलीरुबिन बढ़ने पर, पीलिया में, हेपेटायटिस B और C में, किडनी क्रिएटिनिन बढ़ने पर, मधुमेह आदि में चमत्कारिक रूप से उपयोगी हैं।

इसका काढ़ा ले लिया जाए तो पूरे वर्ष लीवर की कोई समस्या ही नहीं होगी। जब लिवर में घाव हो जाते हैं वह सिकुड़ जाता है उसमे भी भूमि आंवला बहुत लाभ करता है और फैटी लिवर जिसमे लिवर में सूजन आ जाती है पर बहुत लाभ करता है।

हेपेटायटिस के लिए यह रामबाण है। भूमि आंवला पंचांग का काढ़ा लेते रहने से यह बीमारी बिलकुल ठीक हो जाती है। इसके अलावा पेट में दर्द हो और कारण न समझ आ रहा हो तो इसका काढ़ा ले लें।पेट दर्द तुरंत शांत हो जाएगा क्योंकि ये पाचन प्रणाली को भी अच्छा करता है।

  • पीलिया रोग में भूमि आंवला:

पीलिया रोग एक आम बीमारी है। इस बीमारी में राहत दिलाने में इस भूमि आंवले को फायदेमंद माना जाता है। पीलिया के रोगी को सुबह शाम नियमित भूमि आँवला के जूस रस का सेवन करना चाहिए। क्योंकि निश्चित मात्रा में इस आंवले का जूस पीने से पीलिया रोग में लाभ होता है। इसके अलावा पीलिया या मलेरिया रोग में इसके पौधै की पंचाग को ताजी छांछ के साथ सेवन करने से लाभ होता है।

  • डायबिटीज रोग के समाधान के रूप में भूमि आंवला:

मधुमेह को नियंत्रित रखने के लिए भूमि आंवला के रस में काली मिर्च पाउडर मिलाकर नियमित सेवन करने से लाभ होता है। मधुमेह की बीमारी में यदि चोट या घाव न भरता हो तो भुंई आंवला का पेस्ट बनाकर लगाने से घाव जल्दी भर जाता है। यह रक्त को शुद्ध करने में फायदेमंद होता है।

  • आंतो की सूजन में कैसे हैं फायदेमंद भूमि आंवला?

भूमि आंवला का सेवन आंतों को स्वस्थ रखता है। आंतों की सूजन जैसी समस्याओं से निजात के लिए भूमि आंवला और दूब घास का रस पीने से लाभ होता है तथा आंतो की कार्यक्षमता भी बढ़ती है। आंतों का ठीक होना पाचन क्रिया के लिए बहुत जरूरी होता है।

  • पेट के रोगों में भूमि आंवला:

यह पाचन क्रिया को मजबूत बनाता है तथा पेट के तमाम तरह के रोगों से छुटकारा दिलाने में फायदेमंद होता है। यह पेट दर्द, गैंस, आफरा, बदहजमी, अपच या कब्ज जैसी समस्याओं में फायदेमंद होता है। यह पाचन संबंधी समस्याओं से भी छुटकारा दिलाता है।

  • मौखिक (मुंह वाला) स्वास्थ्य में भूमि आंवला की भूमिका

मुंह के अंदर की किसी भी प्रकार की बीमारी के लिए भी भूमि आंवला बहुत फायदेमंद है। मुंह की बदबू, दांतों और मसूड़ो में दर्द जैसी समस्याओं से निजात पाने के लिए भूमि आंवला के पंचाग (पौधे के पांचों भाग) को पानी मे उबाल कर नींबू रस व सेंधा नमक मिलाकर गरारे करने से लाभ होता है। छालों से छुटकारा पाने के लिए इसकी पत्तियों को चबाने से लाभ होता है।

  • अनेक बीमारियों में भी लाभकारी होता है:
  1. इसके पंचाग के काढे को बनाकर नियमित कुछ दिन सेवन करने से किडनी की सूजन की समस्या सही हो जाती है।
  2. सर्दी,खांसी, जुकाम, बुखार व गले में इंफेक्शन जैसे रोगों में भूमि आंवला फायदेमंद होता है। नाक से खून बहता हो या फिर महिलाओं में मासिक धर्म के बाद ब्लीडिंग की परेशानी हो इसका काढा लाभकारी होता है।
  3. भूमि आंवले का काढ़ा प्रमेह, प्रदर व रक्तस्राव जैसे रोगो में भी लाभ पहुंचाता है।
  4. भूमि आंवला यूरिन इंफेक्शन या मूत्र रोग, यौन रोग, जननांग विकारों में भी लाभदायक होता है।
  5. खांसी की समस्या में इसका काढ़ा लाभदायक होता है।
  6. यह खून की कमी या एनीमिया, पेचिश आदि रोगों में भी लाभदायक है।
  7. भूमि आंवला हेपेटायटिस के लिए भी लाभदायक होता है।

bhumi amla ke fayde100

Best Healthy Liver Capsule | Best Healthy LiverTablets or Medicine | Make Healthy Liver | 100 % Ayurvedic Healthy liver Tonic for Liver diseases |