लिवर की सूजन को कैसे कम करें? | Liver ki sujan ko kaise kam karen? | लिवर की सूजन का इलाज | Liver Swelling Treatment |

5:48 pm / staff / 0 comments
Category:
LIVER DISEASES

लिवर की सूजन को कैसे कम करें (Liver Swelling or Liver inflammation in Hindi)

अगर आप लिवर की सूजन को कैसे कम करें? के बारे में तलाश कर रहे हैं तो आपकी जहां तलाश पूरी हुई क्योंकि इस लेख में हम आपको लिवर की सूजन को कैसे कम करें  की समस्त जानकारी बताने जा रहे हैं।

लिवर हमारे शरीर का एक प्रमुख अंग है। यह शरीर को संक्रमण से लड़ने, रक्त शर्करा या ब्लड शुगर को नियंत्रित रखने, शरीर से विषैले पदार्थों को बाहर निकालने, फैट को कम करने तथा प्रोटीन बनाने में भी लिवर अहम भूमिका निभाता है। इसके साथ मोटापे के कारण भी लिवर की समस्या हो सकती है। लिवर भोजन पचाने और उसे अवशोषित करने में आंतों की सहायता करता है। लिवर का मुख्य कार्य पाचन तंत्र से आने वाले रक्त को अन्य अंगों तक पहुंचाने से पहले शुद्ध करना होता है। इसके अलावा लिवर दवाओं को पचाने में भी मददगार होता है।

लिवर की सूजनलिवर में सूजन यानि फैटी लिवर (Fatty Liver) ऐसी बीमारी है, जिसमें लिवर की कोशिकाओं में अधिक मात्रा में फैट जमा हो जाता है। लिवर में वसा की कुछ मात्रा का होना तो सामान्य बात है लेकिन फैटी लिवर बीमारी व्यक्ति को केवल तब होती है जब वसा की मात्रा लिवर का भार से 10% अधिक हो जाती है। अतिरिक्त फैट जमा होने के कारण लिवर अपना काम करना भी बंद कर देता है, जिससे बॉडी के विषैले तत्व बाहर नहीं निकल पाते और आप बीमारियों की चपेट में आ जाते हैं।

लिवर की सूजन प्राय: गलत खान-पान के वजह से होती है। इस रोग में लिवर के कोशो में काफी कमी और निष्क्रियता आने से उस पर सूजन आ जाती है। धीरे-धीरे वह कुछ सिकुड़कर छोटा तथा कठोर हो जाता है। आरंभिक अवस्था में रोगी को अक्सर अपच की शिकायत रहती है। कभी-कभी उसे उबकाई आने और वमन होने की तकलीफ हो जाती है। यदि रोग की शुरुआत में ही उचित परहेज और दवा ना की जाए तो रोगी की त्वचा में पीलापन आ जाता है। हल्का बुखार रहने लगता है। पेट की नसें फूल जाती है। शरीर का वजन कम होने लगता है और भूख नहीं लगती। पेट में दर्द भी अनुभव हो सकता है।

शरीर की तथा चेहरे की त्वचा पर मकड़ी के जाले से हल्के चिन्ह दिखाई देने लगते हैं। पेट फूला हुआ रहता है। शरीर और मस्तिष्क में बहुत थकावट रहती है। भूख बिल्कुल नहीं लगती। रोगी की इस बढ़ी हुई अवस्था का उचित इलाज ना करने पर प्राय: मृत्यु हो जाती है।

liver ki sujan ka ilaj

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

लिवर के सूजन के कारण – (Liver Swelling Reason in Hindi)

लीवर में सूजन की बीमारी का मुख्य कारण गलत खान-पान ही है। जिसमें से मुख्य कारण अधिक मात्रा में तेल, मिर्च, मसाला व चटपटी चीजों का खाना, भोजन को बिना अच्छी तरह चबाए निगल जाना, फास्ट फूड ही है। रात्रि में भोजन के बाद अधिक देर तक जगकर काम करने से भी लीवर में सूजन आ सकती है। किसी भी कारण से पाचन क्रिया खराब होने से लीवर में सूजन आ सकती है।

 

लिवर सूजन के लक्षण – (Liver Swelling Symptoms in Hindi)

लीवर सूजन की बीमारी होने पर शरीर में कई लक्षण दिखाई पड़ सकते हैं। इसमें पेट में सूजन आ जाती है तथा लीवर बड़ा हो जाता है। शरीर में थकावट भी आ सकती है। छाती में जलन व भारीपन होने के साथ-साथ पेट में गैस बनने के समस्या भी हो सकती है। शरीर में आलसपन व कमजोरी भी हो सकती है। इस बीमारी में मुँह का स्वाद खराब भी हो सकता है।

 

लिवर सूजन का इलाज – (Treatment of Liver Swelling)

लिवर सूजन का मुख्य कारण गलत खान-पान है अतः इससे बचने के लिए गलत खान-पान को त्यागना चाहिए। पर यदि बीमारी हो जाए तो इसे नजरअंदाज न करके शुरुआती में ही उचित इलाज करानी चाहिए।

liver ki suzan ka ilaj

लिवर की सूजन को कैसे कम करें इसके लिए कुछ घरेलू नुस्खे की चर्चा करते हैं:

  • एक ग्लास पानी लें और उसे उबालने के लिए रख दें। अब इसमें एक चुटकी हल्दी डालें, साथ ही नींबू का रस मिलाएं, मिक्‍स कर के रोज सुबह इस गुनगुने पानी के साथ लें।
  • अपने दिन की शुरुआत एक गिलास गुनगुने नींबू पानी या हर्बल चाय के साथ करेंगे तो आपको बहुत अधिक लाभ होगा। क्योंकि सुबह के समय इन हर्बल पेय का सेवन आपके लिवर से टॉक्सिक बाहर करने का काम करता है।

 

  • फलों और सब्जियों की सलाद का सेवन करें। इस सलाद पर काला नमक और भुने हुए जीरे का पाउडर छिड़ककर खाएं।

 

  • पपीते के बीजों को सुखाकर बारीक चूर्ण बना लें। एक चम्मच लेकर इसमें आधा नींबू मिलाकर सेवन करने से लिवर की सूजन में लाभ मिलता है।

 

  • सूखे आंवले का चूर्ण 5 ग्राम या आंवले का रस 25 ग्राम एक छोटे गिलास सुद्ध जल में अच्छी तरह मिलाकर दिन में 4 बार सेवन करें।

 

लिवर की सूजन (Liver Swelling) को कैसे कम करें इसके लिए इन बातों का ख्याल रखे

  • सिगरेट और शराब का ज्यादा मात्रा में सेवन करने से लिवर सिरोसिस जैसे गंभीर रोग होने का खतरा रहता है, इसलिए सेवन से बचने की कोशिश करें।

 

  • 6 घंटे से कम की नींद लेने से शरीर का मेटाबॉलिज्म प्रभावित होता है और लिवर से जुड़े रोगों का खतरा बढ़ जाता है।
  • सही दिनचर्या का पालन न करना, देर से उठना और देर से सोना भी लिवर को प्रभावित करते हैं।
  • तनाव से भी लिवर की कार्य क्षमता प्रभावित होती है जिसका सीधा प्रभाव पाचन प्रक्रिया पर होता है।
  • पर्याप्त मात्रा में ताजे फल और हरी पत्तेदार सब्जियों का सेवन।
  • ढेर सारा पानी (उबला हुआ या बोतलबंद), फलों का जूस।
  • अत्यधिक तले हुए भोजन से बचने की कोशिश करें।

 

लिवर सूजन में यह खाये

  • कॉफी लीवर में एंटीऑक्सीडेंट के स्तर को बढ़ाती है, जबकि सभी सूजन को कम करती है। यह यकृत रोग, कैंसर और फैटी लीवर के विकास के जोखिम को भी कम करता है।

 

  • काली और हरी चाय जिगर में एंजाइम और वसा के स्तर में सुधार कर सकती है। हालाँकि, अगर आप ग्रीन टी का अर्क ले रहे हैं तो सावधानी बरतें, क्योंकि इससे नुकसान हो सकता है।

 

  • चकोतरे में एंटीऑक्सिडेंट सूजन को कम करके और इसके सुरक्षात्मक तंत्र को बढ़ाकर जिगर की रक्षा करते हैं। हालांकि, मानव अध्ययन, साथ ही अंगूर या अंगूर के रस पर उन लोगों की कमी है।

 

  • जामुन एंटीऑक्सीडेंट में उच्च होते हैं, जो जिगर को नुकसान से बचाने में मदद करते हैं। वे भी अपनी प्रतिरक्षा और एंटीऑक्सीडेंट प्रतिक्रियाओं में सुधार कर सकते हैं।

 

लिवर की सूजन के इलाज के लिए आप हमारे द्वारा इस लेख में नीचे दी गई दवा को आजमाकर भी देख सकते है।

लीवर की सूजन का इलाज | लिवर की सूजन का इलाज | Liver li sujan ka ilaj | लीवर की सूजन का best इलाज |