लिवर को मजबूत कैसे करें?

2:58 pm / staff / 0 comments
Category:
LIVER DISEASES

अगर आप लिवर को मजबूत कैसे करें? के बारे में तलाश कर रहे हैं तो आपकी जहां तलाश पूरी हुई क्योंकि इस लेख में हम आपको लिवर को मजबूत कैसे करें और लिवर की बीमारियों या रोगों की समस्त जानकारी बताने जा रहे हैं।

 

लिवर के रोग या लिवर की बीमारियां (Liver Disease)- लिवर के रोग या लिवर की बीमारियां (Liver Diseases) काफी तेज़़ी से फैल रही है। यह बीमारी लगभग हर उम्र के लोगों में देखने को मिलती है। एक अध्ययन के अनुसार भारत में हर साल लगभग 35 लाख लोग लीवर रोग का शिकार हो रही हैं। इसके साथ में विश्व स्वास्थ संगठन (World Health Organisation) के अनुसार यह भारत में लोगों की मौत होने के दस कारणों में शामिल है। इसके लक्षण देर से नजर आते हैं। कमजोरी महसूस होना लीवर रोग (liver disease) के शुरुआती लक्षणों में से एक है। इसके अलावा शरीर और आंखे पीली होना, पेट में दर्द और सूजन होना, उल्टी होना, स्किन में अधिक खुजली होना, भूख में कमी, सोचने और निर्णय लेने की क्षमता में कमी और अचानक वजन कम होने की समस्या हो सकती है।

क्या है लिवर के रोग या लिवर की बीमारियां? (What is Liver Disease?)

लीवर मानव शरीर का एक महत्वपूर्ण अंग होता है, जो पेट के दाई ओर और पसलियों के बीच में स्थित होता है। लीवर मुख्य रूप से कई सारे कार्यों जैसे भोजन को पचाना, शरीर से टॉक्सीन पदार्थों को बाहर निकालना, खून को शरीर के अन्य भागों में पहुंचाना इत्यादि को करता है। लेकिन जब लीवर इनमें से किसी भी कार्य को नहीं कर पाता है, तो उस स्थिति को लीवर रोग कहा जाता है।

इसके अलावा, लीवर रोग या लीवर की बीमारी से तात्पर्य ऐसी बीमारी से है, जो लीवर की कार्य क्षमता को प्रभावित करती हैं। लीवर रोग मुख्य रूप से कई प्रकार जैसे हेपिटाइटिस, लीवर का खराब होना, लीवर में सूजन होना इत्यादि होते हैं।

लिवर रोग के प्रकार (types of Liver diseases)

लीवर रोग मुख्य रूप से कई तरह के होते हैं, जिनमें से कुछ इस प्रकार हैं-

  • फैटी लीवर (Fatty Liver)फैटी लीवर (Fatty Liver) से तात्पर्य ऐसी बीमारी से है, जब लीवर पर फैट या वसा के टिशू इकट्ठे हो जाते हैं जिससे विश्व भर लगभग 30 % लोग प्रभावित हैं।
  • पीलिया (Jaundice)जिसमें शरीर और आंखों का रंग पीला हो जाता है। आमतौर पर, पीलिया की समस्या नवजात बच्चों को अधिक होती है। यदि इसका सही समय पर इलाज न किया जाए, तो यह मौत का कारण भी बन सकता है।
  • लीवर कैंसर (Liver Cancer)जब कैंसर के टिशू का निर्माण लीवर में हो जाता है, तो उसे लीवर कैंसर के नाम से जाना जाता है। लीवर में विभिन्न प्रकार के कैंसर हो सकते हैं, जिनमें से सबसे आम प्रकार हेपैटोसेलुलर कार्सिनोमा (Hepatocellular carcinoma) है।
  • हेपेटाइटिस A, B and Cयह लीवर रोग का अन्य प्रकार है, जो हेपेटाइटिस वाइरस के कारण होता है। यदि इसका समस्या का समय रहते इलाज नहीं किया जाए तो यह घातक रूप ले सकती है।
  • शराब के सेवन से लीवर का खराब होनालीवर का खराब होना (Liver Disease), लीवर रोग का सबसे साधारण प्रकार है, यह उस स्थिति में होता है, जब लीवर सही से कार्य नहीं कर पाता है।
  • लीवर में सूजन होना यह समस्या मुख्य रूप से जंग फूड खाने, तेल वाले भोजन करने इत्यादि के कारण होता है। इस समस्या से पीड़ित व्यक्ति का पेट साफ नहीं होता है ।
  • लीवर सिरोसिसजब किसी व्यक्ति के लीवर में कोशिकाएं समाप्त हो जाती हैं और उनके साथ में फाइबर कोशिकाओं उत्पन्न हो जाती हैं, तो उस स्थिति को लीवर सिरोसिस (liver cirrhosis) के नाम से जाना जाता है। इस समस्या का समाधान केवल लिवर प्रत्यारोपण या लिवर ट्रांसप्लांट के द्वारा ही संभव होता है।

  

लिवर के रोग के लक्षण: (symptoms of Liver related diseases)

आंखे पीली होने, पेट में दर्द और सूजन होना, उल्टी होने, स्किन में अधिक खुजली होना, भूख में कमी, सोचने और निर्णय लेने की क्षमता में कमी और अचानक वजन कम होने की समस्या हो सकती है। अलग अलग लिवर रोगों के प्रकारों के अनुसार इसके लक्षण भी अलग अलग तरह के होते हैं।

 

लीवर रोग से बचाव कैसे करें? (Prevention of Liver Disease):

लिवर को मजबूत कैसे करें? इसके समाधान के लिए आप निम्नलिखित तरीकों को अपनाकर लीवर के रोग से बच सकते हैं-

शराब का सेवन करना लीवर के रोग शराब का अधिक सेवन करने से भी होते हैं, इसलिए इनसे बचने का सबसे आसान तरीका शराब का सेवन न करना है।

वजन को कायम करना यदि कोई व्यक्ति लीवर के रोग से पीड़ित है तो उसे अपने वजन को नियंत्रित करना चाहिए ताकि उसके शरीर में शुगर स्तर और रक्तचाप का स्तर सामान्य रहें।

समयसमय पर दवाई लेना दवाईयों का सेवन समय-समय पर करना चाहिए ताकि जल्दी से ठीक हो सके।

पौष्टिक भोजन करना इससे पीड़ित व्यक्ति को अपने भोजन पर पूरा ध्यान रखना चाहिए और केवल पौष्टिक भोजन का ही सेवन ही करना चाहिए।

 

कुछ घरेलू नुस्खे की चर्चा करते हैं:

एक ग्लास पानी लें और उसे उबालने के लिए रख दें। अब इसमें एक चुटकी हल्दी डालें, साथ ही नींबू का रस मिलाएं, मिक्‍स कर के रोज सुबह इस गुनगुने पानी के साथ लें।

अपने दिन की शुरुआत एक गिलास गुनगुने नींबू पानी या हर्बल चाय के साथ करेंगे तो आपको बहुत अधिक लाभ होगा। क्योंकि सुबह के समय इन हर्बल पेय का सेवन आपके लिवर से टॉक्सिक बाहर करने का काम करता है।

फलों और सब्जियों की सलाद का सेवन करें। इस सलाद पर काला नमक और भुने हुए जीरे का पाउडर छिड़ककर खाएं।

Repair Fatty Liver | Best Liver Cleanse 800 Mg Capsule | Liver Detox Supplement | 19 Herbal Extracts for Healthy Liver | Rejuvenate Liver Health | Vegan Liver Pills