मोटापा कम करने की दवा | आयुर्वेदिक औषधि

मोटापा कम करने की दवा
9:00 am / chetan gupta / 0 comments
Category:
Weight Loss

अगर अब मोटापा कम करने की दवा के बारे में जानकारी ढूंढ रहे हैं, तो हमारा यह लेख आपकी इस परेशानी को दूर करेगा, साथ ही हमारा यह लेख आयुर्वेदिक मोटापा कम करने की दवा से संबंधित आपकी सभी जिज्ञासाओं को दूर भी करेगा।

इसके साथ मैं आपको इस लेख में एक असरदार आयुर्वेदिक मोटापा कम करने की दवा के बारे में जानकारी दूंगा जो 100% सुरक्षित है और जिसके कोई दुष्प्रभाव नहीं होते।

तो मेरा आपसे निवेदन है कि आप इस लेख को पूरा पढ़ें और लेख के अंत में एक उपहार आपका इंतजार कर रहा है।

जैसा कि आप जानते हैं अगर हम स्वास्थ्य की बात करें तो मोटापा एक आम समस्या बन चुका है।

अगर हम मोटापे की वजह से होने वाली बीमारियों के बारे में देखें तो हम कभी मोटे होने के बारे में सोचेंगे भी नहीं।

मोटापे की वजह से होने वाली कुछ समस्या

  • हाई शुगर लेवल
  • खराब रक्त लिपिड प्रोफाइल
  • हाई कोलेस्ट्रॉल लेवल
  • हाई ब्लड प्रेशर, आदि

इन सभी परेशानियों से बचने के लिए आपको मोटापा कम करने की जरूरत है इसके लिए आयुर्वेदिक मोटापा कम करने की दवा आपके लिए एक विशेष विकल्प है।

इसके साथ-साथ मोटापा आपके संपूर्ण शारीरिक स्वास्थ्य को भी हानि पहुंचाता है, इसलिए आयुर्वेदिक मोटापा दूर करने की दवा आवश्यक है।

इतना ही नहीं हाई ब्लड प्रेशर हाई और कोलेस्ट्रॉल लेवल की वजह से आपके शरीर का इम्यून सिस्टम भी कमजोर होने लगता है।

इम्यून सिस्टम के सही से कार्य नहीं करने की वजह से आपको अक्सर परेशानियां और बीमारियों से ग्रसित रहेंगे।

सामान्य व्यक्ति की तुलना में मोटे व्यक्तियों में किसी भी बीमारी का जोखिम दोगुना होता है।

कृपया करके मोटापे की समस्या को नजरअंदाज ना करें, यह कई प्रकार की समस्या उत्पन्न कर सकता है।

मोटापा कई बायोलॉजिकल कारकों जैसे कि जेनेटिक और हार्मोन पर भी निर्भर करता है।

मोटापा कम करने की दवा Infographic

"<yoastmark

शरीर में मोटापा बढ़ने के 4 मुख्य कारण

अंग्रेजी दवाओं से होने वाले साइड इफेक्ट

आजकल के दौर में लगभग हर व्यक्ति किसी ना किसी रोग से निजात पाने के लिए दवाओं का सेवन कर रहा है।

पर अंग्रेजी दवाओं का नियमित रूप से सेवन करने से उनके साइड इफेक्ट भी सामने आते हैं।

अंग्रेजी दवाओं से होने वाले दुष्प्रभावों की सूची में वजन बढ़ना एक सामान्य समस्या है।

सभी दवाएं नहीं बल्कि डायबिटीज, डिप्रेशन, बर्थ कंट्रोल पिल्स, एनर्जी एन्हांसमेंट स्टेरॉइड आदि की दवाएं साइड इफेक्ट के रूप में वजन बढ़ा सकती हैं।

इसलिए मोटापा दूर करने के लिए आयुर्वेदिक मोटापा कम करने की दवा बहुत कारगर साबित होती है, क्योंकि इसके कोई दुष्प्रभाव नहीं होते और यह प्राकृतिक और स्वाभाविक रूप से शरीर में काम करती है।

इसलिए, यदि आप किसी अंग्रेजी दवा के लगातार सेवन से मोटापे में वृद्धि पा रहे हैं या मोटापे की गिरफ्त में आ रहे हैं, तो आप अपने डॉक्टर से सलाह जरूर लें।

यह भी पढ़ें:

Veg Keto Diet Food List with Ayurvedic medicine

अपर्याप्त नींद

पर्याप्त नींद लेना कितना महत्वपूर्ण होता है यह तो आप भली-भांति जानते होंगे

आइए देखें कैसे पर्याप्त नींद एक मोटापा कम करने की दवा के रूप में काम करती है।

तो, वे व्यक्ति जिनकी जीवनशैली ऐसी है जहां वे प्रतिदिन 8 घंटे से कम नींद लेते हैं।

तो उन्हें ज्यादा कार्य करने के लिए अधिक भोजन की आवश्यकता है, दूसरी भाषा में हम यह कह सकते हैं उनके पास अत्यधिक मात्रा में भूख है।

हमारे शरीर में कई प्रकार के हार्मोन पाए जाते हैं जो कि निरंतर अपना काम स्वाभाविक रूप से करते रहते हैं।

Buy Now! garcipan

लेप्टिन हार्मोन की भूमिका

हमारी जीवनशैली कम होने वाली है तो इस स्थिति में भूख बढ़ाने वाले हार्मोन (लेप्टिन) का उत्पादन बढ़ जाता है।

मुख्य रूप से लेप्टिन हार्मोन का कार्य हमारे शरीर में भूख को दबाना है।

अगर आपका कभी रात्रि में जागे होगे, तो आपने यह अनुभव किया होगा कि आप को रात्रि में भूख ज्यादा लगती है, यह लेप्टिन हार्मोन की वजह से होता है।

जिसके कारण व्यक्ति को थोड़े-थोड़े अंतराल में बार-बार भूख लगती है, ज्यादातर यह भूख रातों के दौरान अधिक प्रभावशाली हो जाती है।

इसी भूख को मिटाने के लिए आपने अक्सर देखा होगा, की अधिकांश लोग अस्वस्थ आहार जैसे ‘जंक फूड’ का सेवन करने लगता है और मोटापे के शिकार बन जाते हैं।

यदि आप इस समस्या से छुटकारा पाना चाहते हैं, तो आप इन उपायों की मदद से गुणवत्तापूर्ण नींद पा सकते हैं –

  • अगर हम मोबाइल, लैपटॉप, इलेक्ट्रॉनिक गैजेट, आदि का उपयोग रात्रि के समय करते हैं, तो इनसे निकलने वाला नीला प्रकाश हमारे दिमाग में दिन का भ्रम पैदा करता है और हमें सोने में परेशानी उत्पन्न होती है।
  • सोने के समय के 2 घंटे पहले ही अपना रात्रि भोज कर ले, ताकि भोजन ठीक से पच सके।
  • अगर हम थके हुए हो तो हमें अच्छी नींद आती है, इसके लिए आप सोने से पहले एक्सरसाइज, व्यायाम, आदि श्याम कर सकते हैं।
  • आयुर्वेदिक मोटापा कम करने की दवा लें, ताकि वे बिना किसी साइड इफेक्ट के नींद के दौरान आपके शरीर में अच्छी तरह से काम कर सकें।
  • किसी भी तरह के ऐसे पदार्थ का सेवन ना करें जिसमें कि कैफीन की मात्रा पाई जाती है, जैसे चाय, कॉफी, आदि। कैफीन हमारे शरीर में एक शक्ति पैदा करती है जिसकी वजह से हमें कभी थका हुआ महसूस नहीं होता।

धूम्रपान की आदत का त्याग

धूम्रपान स्वास्थ्य के लिए हानिकारक है पैसा तो आपने बहुत बार सुना होगा और वाक्य में धूम्रपान शरीर में कई प्रकार की समस्या पैदा करता है।

पर आपको यह जानकर आश्चर्य होगा कि अगर आप लंबे समय से धूम्रपान के आदी हैं और अगर आप इस आदत को एकदम से त्याग देना चाहते हैं।

तो इसके दुष्परिणाम स्वरूप आपके शरीर का मोटापा बढ़ सकता है।

तो जब भी आप धूम्रपान त्यागने का निश्चय करें तो इसके साथ साथ व्यायाम और अपने आहार पर पर्याप्त ध्यान दे रहे हैं।

ताकि, आप धूम्रपान छोड़ने के कठोर दुष्प्रभावों से खुद को तैयार कर सकें।

अगर आप इन सभी परेशानियों से बचना चाहते हैं, तो आयुर्वेदिक मोटापा कम करने की दवा आपके लिए एक महत्वपूर्ण विकल्प है।

यह भी पढ़ें:

Ayurvedic Fat Burning Tablets | 9 Important Ayurvedic Herbs

तनाव और चिंता से बचें

अगर आप लंबे समय से चिंता और तनाव से ग्रसित हैं तो यह आपके शारीरिक और मानसिक स्वास्थ्य के लिए अच्छा नहीं है।

आजकल के दौर में लगभग हर व्यक्ति की जिंदगी में चिंता और तनाव है और यह उनकी जीवन शैली का एक हिस्सा बन गया है।

लेकिन, अगर आपका तनाव आपके नियंत्रण के स्तर को पार कर दे, तो आपका दिमाग इसे नियंत्रित करने के लिए ‘कोर्टिसोल हार्मोन’ का उत्पादन शुरू कर देता है।

कोर्टिसोल हार्मोन की भूमिका

कॉर्टिसोल हार्मोन की मात्रा बढ़ जाने की वजह से शरीर का मोटापा बढ़ने लगता है।

कोर्टिसोल हार्मोन अपने दूसरे नाम स्ट्रेस हार्मोन से भी प्रचलित है, शरीर का मोटापा और कोर्टिसोल हार्मोन सीधे तौर पर एक-दूसरे पर निर्भर करते हैं।

अगर कोर्टिसोल हार्मोन का स्तर बढ़ता है तो मोटापा भी बढ़ेगा।

अगर तनाव हद से ज्यादा बढ़ जाए तो कोर्टिसोल हार्मोन का उत्पादन भी बढ़ जाता है, जिसके दुष्परिणाम स्वरूप शरीर का वजन बढ़ जाता है।

आयुर्वेदिक मोटापा कम करने की दवा आपको तनाव मुक्त कर सकती हैं, यह बिना किसी साइड इफेक्ट के हर्बल और आयुर्वेदिक उत्पादों का मिश्रण है।

इसलिए जहां तक हो सके, तनावमुक्त रहने की कोशिश करें।

यह भी पढ़ें:

Ayurvedic Weight Lose Tablets 2020 | Top 4 Reasons of Weight Gain

आयुर्वेदिक मोटापा कम करने की दवा | एग्रीप्योर गार्शिपन प्लस

Ayurvedic AGGRIPURE-GARCIPAN for weight loss
मोटापा कम करने की दवा

यदि आप अपने मोटापा दूर करने के लिए आयुर्वेदिक मोटापा कम करने की दवा खरीदने की योजना बना रहे हैं, तो आप एग्रीप्योर गार्शिपन प्लस को खरीद सकते हैं।

मोटापा कम करने की दवा में एग्रीप्योर गार्शिपन प्लस सबसे ज्यादा प्रभावशाली, सुरक्षित और असरदार औषधि है।

आयुर्वेदिक दवाओं का सबसे विशेष फायदा यह है, कि यह कभी कोई दुष्प्रभाव नहीं दिखाती पर आपको सही आयुर्वेदिक दवा चुनने का सही तरीका आना चाहिए।

आजकल बाजार में हर कोई अपनी दवा को आयुर्वेदिक होने का दावा करता है, नकली आयुर्वेदिक दवा से बचने के लिए आप कस्टमर रिव्यू, दवा में होने वाली सामग्री और अपने स्तर पर जांच पड़ताल करके सही आयुर्वेदिक दवा चुन सकते हैं या किसी विशेषज्ञ से सहारा ले सकते हैं।

एग्रीप्योर गार्शिपन प्लस 4 सिद्ध जड़ी बूटियों के मिश्रण से बनी हुई है जो संतुष्टि के साथ सभी उम्र के लोगों के लिए काम करती हैं।

एग्रीप्योर की आयुर्वेदिक मोटापा कम करने की दवा (गार्शिपन प्लस) आपके शरीर के कैरेक्टर रोल लेवल को कम करने में विशेष भूमिका निभाती है।

इस आयुर्वेदिक मोटापा दूर करने की दवा कि आपको रोजाना 2 टेबलेट खानी होती है, एक सुबह नाश्ते के बाद और एक रात के खाने के बाद।

हम आपको बेहतर परिणाम के लिए एग्रीप्योर गार्शिपन प्लस का पूरा 3 महीने का कोर्स करने की सलाह देते हैं।

आप इस लेख को इस अंत तक पढ़ रहे हैं, तो आपके लिए मेरे पास एक उपहार है, अगर आप एग्रीप्रीयर के गार्लिप्सन प्लस का 3 महीने का पैक खरीदते हैं तो आपको अपने ऑर्डर पर 10% की छूट पा सकते हैं।

अधिक जानकारी के लिए, आप कॉल कर सकते हैं: + 91-7906127882 और 3 महीने के पैक पर अतिरिक्त 10% प्राप्त करने के लिए ’10DISC’ कोड का उपयोग करें।

अभी खरीदें!!!

Buy Now! garcipan